Wednesday, December 6, 2023
Home राष्ट्रीय KIIT ने SDG ''REDUCING INEQUALITUES'' में विश्व स्तर पर 8 वां स्थान...

KIIT ने SDG ”REDUCING INEQUALITUES” में विश्व स्तर पर 8 वां स्थान हासिल किया

[ad_1]

केआईआईटी डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी, भुवनेश्वर को 28 अप्रैल 2022 को प्रकाशित प्रतिष्ठित टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग 2022 में ‘असमानताओं को कम करने’ के सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) में दुनिया के विश्वविद्यालयों में 8वां स्थान दिया गया है।

वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के अलावा, टाइम्स हायर एजुकेशन हर साल विभिन्न मानकों पर संस्थानों के लिए कई अन्य रैंकिंग प्रकाशित करता है। इनमें से एक सबसे महत्वपूर्ण, असरदार श्रेणी में रखना है, जो संयुक्त राष्ट्र (यूएन) सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में उनके योगदान पर दुनिया भर के हजारों विश्वविद्यालयों का मूल्यांकन करती है। टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग चार व्यापक क्षेत्रों अनुसंधान, प्रबंधन, आउटरीच और शिक्षण में स्थिरता के लिए उनकी प्रतिबद्धता का आकलन करती है।

इस वर्ष की रैंकिंग में, केआईआईटी को एसडीजी के ही एक महत्वपूर्ण पैरामीटर – ‘असमानताओं को कम करने’ में इसके प्रभाव के लिए पूरी दुनिया में 8 वां सर्वश्रेष्ठ स्थान दिया गया है। अन्य एसडीजी में 101-200 के प्रभावशाली रैंक के साथ – गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, शांति, न्याय और मजबूत संस्थान और लक्ष्यों के लिए साझेदारी में केआईआईटी ने रैंकिंग में 201-300 की समग्र स्थिति हासिल की है, जिसमें 106 देशों के 1500 से अधिक विश्वविद्यालय सूचीबद्ध हैं।
सूची में केवल कुछ ही भारतीय संस्थान शामिल हैं, और KIIT भारत के शीर्ष आठ विश्वविद्यालयों में से एक है।

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और अनुसंधान के साथ, केआईआईटी अपनी स्थापना के बाद से सामाजिक विकास गतिविधियों के विस्तृत श्रेणी में सक्रिय रूप से शामिल रहा है। केआईआईटी डीम्ड यूनिवर्सिटी के अकादमिक समुदाय का मानना ​​​​है “केआईआईटी” ने असमानताओं को कम करने के क्षेत्र में व्यापक काम किया है। नतीजतन, एसडीजी के इस पैरामीटर में इसे पूरी दुनिया में 8 वां स्थान मिला है”।

अपनी खुशी व्यक्त करते हुए KIIT University के संस्थापक डॉ अच्युता सामंत ने कहा कि ‘असमानताओं को कम करने’ के पैरामीटर में दुनिया के सबसे प्रभावशाली विश्वविद्यालयों में केआईआईटी की स्थिति कई वर्षों से इस क्षेत्र में किए गए महत्वपूर्ण काम को दर्शाती है।
उन्होंने कुलाधिपति, कुलपति, प्रो. सस्मिता सामंत, केआईआईटी के संकाय कर्मचारी सदस्य और छात्रों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी।

केआईआईटी, जिसे अपने एक समुदाय आधारित विश्वविद्यालय होने पर गर्व है, अपनी स्थापना के बाद से शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, ग्रामीण विकास, आदिवासी उत्थान, कला, संस्कृति और साहित्य आदि के माध्यम से गरीबी को कम करने जैसी सामाजिक प्राथमिकताओं में व्यापक योगदान दे रहा है। वास्तव में, केआईआईटी सभी 17 एसडीजी के प्रति प्रतिबद्ध है और इसके शैक्षणिक और सामाजिक कार्यक्रम सीधे अधिक से अधिक लक्ष्यों को छूते हैं। टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग में केआईआईटी की उच्च रैंक इसकी उच्च सामाजिक जिम्मेदारी और सतत विकास की दिशा में प्रभावशाली योगदान को दर्शाता है।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

मुख्यमंत्री ने भारतीय संविधान के निर्माता “भारत रत्न” डॉ. भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर मुख्यमंत्री आवास पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने शोषित एवं वंचित वर्ग के लिए संघर्षरत रहे महान समाज सुधारक, प्रसिद्ध शिक्षाविद् एवं भारतीय संविधान के निर्माता...

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने सोमवार को राजपुर रोड स्थित राष्ट्रीय जल सर्वेक्षण कार्यालय में नौसेना दिवस के अवसर पर आयोजित...

देहरादून, राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने सोमवार को राजपुर रोड स्थित राष्ट्रीय जल सर्वेक्षण कार्यालय में नौसेना दिवस के अवसर पर आयोजित...

*मुख्यमंत्री ने मुख्यसेवक सदन में 18 जीआई प्रमाण पत्रों का किया वितरण। एक दिन में सर्वाधिक 18 जीआई प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाला उत्तराखण्ड...

*मुख्यमंत्री ने मुख्यसेवक सदन में 18 जीआई प्रमाण पत्रों का किया वितरण।* *एक दिन में सर्वाधिक 18 जीआई प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाला उत्तराखण्ड बना...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मुख्यमंत्री ने भारतीय संविधान के निर्माता “भारत रत्न” डॉ. भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर मुख्यमंत्री आवास पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने शोषित एवं वंचित वर्ग के लिए संघर्षरत रहे महान समाज सुधारक, प्रसिद्ध शिक्षाविद् एवं भारतीय संविधान के निर्माता...

वीरेंद्र पैन्यूली : विश्वविद्यालय आंदोलन के लिए आईआईटी से अध्यापन छोड़ दिया था !

*वीरेंद्र पैन्यूली : विश्वविद्यालय आंदोलन के लिए आईआईटी से अध्यापन छोड़ दिया था !* *गडोलिया गांव से एक रोड़ पौखाल श्रीनगर को जाती है दूसरी...

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ आज पीएम मोदी के आगमन को लेकर इन्वेस्टर समिट स्थल का जायजा लिया…

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ आज पीएम मोदी के आगमन को लेकर इन्वेस्टर समिट स्थल का जायजा लिया ।...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में आदर्श चम्पावत के तहत संचालित योजनाओं और प्रस्तावित कार्यक्रमों की समीक्षा की।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में आदर्श चम्पावत के तहत संचालित योजनाओं और प्रस्तावित कार्यक्रमों की समीक्षा की।...

Recent Comments